• Vishwa Sahitya Parishad

राष्ट्र के बारे में सोचें,मेगास्टार आज़ाद |



राष्ट्र के बारे में सोचें

आप सकुशल रहोगे, स्वस्थ रहोगे तो देश मज़बूत रहेगा..🚩🚩


कोरोना से ग्रस्त चीन में हज़ारों शवों को, उनके परिवारों से पूछे बिना कहाँ दफनाया गया, ये केवल सरकार जानती हैं, इटली में किसी भी शव को कोई कंधा देने नहीं आ रहा। वे इंसान जब जिंदा थे तो अकेले हो गये थे और मरे तो लावारिस।


हमें भारत को चीन, इटली, ईरान बनने से बचाना है! कोरोना के आतंक को ख़त्म करना है!


चीन, जापान, फ्रांस, इटली, ईरान समेत तमाम देशों ने अपनी आंखों के सामने अपनों की लाशें देखी हैं। उनको इसके खतरे का ना सिर्फ अंदाजा हुआ बल्कि उसे भुगता भी है। भारत में अभी सिर्फ चार मौत ही हुई है, क्योंकि अभी हम वायरस फैलने के सैकंड स्टेज पर चल रहे हैं। तीसरे स्टेज से हमें बचना है ! कल्पना करना मुश्किल होगा जिस दिन ये तीसरी स्टेज पर पहुंचेगी। जिन देशोें में ये तीसरे चरण में पहुंचा उससे 100 गुना बुरी हालत भारत की होगी क्योंकि यहां के लोगों में इस वायरस के प्रकोप से बचने के प्रति गंभीरता का अभाव है।क्योंकि सरकार के उपायों मजाक बनाने में वक्त बीतता है। युरोपीय देशों में ऐसा नहीं है।वहां सरकार किसी भी पार्टी की हो लेकिन वो अपनी सरकार के प्रत्येक आदेश का गंभीरता से पालन करते हैं और जो पालन नहीं करते उनके साथ वहां की सेना पालन करवाना जानती है...!!


हमारे #देश में हम नियमों को तोड़ने में आनंदित होते हैं। हमारी भारत सरकार एवं सभी राज्यों की सरकारें इस अंदेशे को भांप चुकी हैं। स्कूल, कॉलेज, ट्रेन, मॉल्, मंदिर सब धीरे-धीरे बंद हो रहे हैं ।


सख़्ती से अपने आप को सुरक्षित रखें ।हाथ साफ करें बार बार, किसी से हाथ ना मिलाएं। एक मीटर की दूरी से बात करें, साथ में खाना ना खाएं, कुछ अंदेशा हो तो चिकित्सक को दिखाएं। वरना आपकी लापरवाही आपके मां, बाप, पत्नी, बेटा, बेटी या कोई और करीबी इसकी चपेट में आया उस दिन आपकी सारी लापरवाही धरी की धरी रह जाएगी । सही तरीके से चले। अगर आपने खुद पर और परिवार पर ध्यान दिया तो हमारे डाक्टरों पर दबाव कम होगा। 35 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं। जो भर्ती है उनमें से ज्यादातर की तबियत में सुधार हो रहा है। अपना और देश के भविष्य को बचाने के लिए वर्तमान में सावधानी बरतें...!!


सलाम है डाक्टर-नर्सिंग स्टॉफ को


आज पूरे देश की शान हमारे चिकित्सक और नर्सिंग स्टाफ बन चुके हैं। खुद की जान खतरे में डाल कर कई घंटे और कई दिनों तक अपने घर से दूर रहकर आमजनों की जान बचाने में जुटे हैं। उनका उत्साहवर्धन करें! हम सब उन चिकित्सकों और नर्सिंग स्टाफ के परिवारों को सांत्वना और भरोसा दें।


कुछ दिनों के लिए झुंड में न रहें, बैठें तो भी दूरी बनाकर, घरों में रहें ताकि ना आप किसी को वायरस दे सको और ना आप अपने घर में दूसरे से वायरस ला सके...!!


क्या होगा अगर कुछ दिन ये नहीं करोगे तो....!!


1. क्या होगा अगर कुछ दिन दोस्तों के साथ बात नहीं कर पाओगे, फोन पर कर लीजिए...!!


2. क्या होगा अगर कुछ दिन बाजार नहीं जाओगे...!!


3. क्या होगा अगर अपनी मांगें मनवाने के लिए कुछ दिन धरना-प्रदर्शन विरोध नहीं करोगे जब सब ठीक हो जाए तब कर लेंगे...!!


4. क्या हो जाएगा अगर कहीं घूमने नहीं जाओगे तो जब सब सामान्य हो जाए तब चले जाएंगे...!!


5. क्या होगा अगर दिन में 10 बार हाथ धो लेंगे...!!


6. क्या होगा अगर मजाक उड़ाने की बजाय लोगों को जागरुक करने के लिए मैसेज करेंगे...!!


7. क्या होगा जो जागरुक मैसेज दूसरों को फॉरवर्ड करते हो उसका खुद भी पालन कर लेंगे...!!


8. क्या फर्क पड़ता है कि सरकार किसकी है और वे क्या कह रहे हैं, मतलब इतना रखो वो आपके हित के लिए कर रहे हैं...!!


..क्योंकि मौत ना जाति, ना धर्म, ना क्षेत्र, ना उम्र, ना राज्य, ना इलाका और ना लिंग और ना सूरत देखकर आती है।


कुछ महीनों में सब सामान्य हो जाएगा अभी अपनी, अपने परिवार, मित्रों पड़ोसियों के हित में सोचें।


👉👉👉राष्ट्र हित में जारी.....#आज़ाद